BREAKING NEWS

< >
PREV ARTICLE

विकास में बाधा बन रही भाजपा: इंकाध्यक्ष

NEXT ARTICLE

बीएसएनएल के नया कनेक्शन अब बगैर स्थापना शुल्क के

आरक्षण पर हुई वाद-विवाद प्रतियोगिता

Published: 2015-09-29 05:42 PM IST

 

गुना, 29 सितंबर    आरक्षण व्यवस्था को लेकर सराफा बाजार जैन मंदिर में हुई प्रतियोगिता के दौरान प्रतिभागी पक्ष और विपक्ष में जमकर बोले। पिछले 25 साल से पर्यूषण पर्व के दौरान इसका आयोजन किया जाता है। इस बार प्रतियोगिता के ओवर ऑल विनर रहे जैन युवा संगठन को चल मंजूषा प्रदान की गई।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि सहायक मंडल अिभयंता ऋषि यादव थे। वहीं निर्णायक मंडल में प्रोण् राजेंद्र विजयवर्गीय, प्रो. ललित नामदेव और एसके जैन थे। इसमें सामाजिक न्याय के आरक्षण जरूरी बताया।  पक्ष में जैन युव संगठन की तान्या जैन और विपक्ष में पिंकी जैन प्रथम रहीं। वहीं द्वितीय स्थान पर विनर सोसायटी के अपूर्व व विपक्ष में मधुर जैन रहे। तीसरे स्थान पर पक्ष में रश्मि बज रहीं और विपक्ष में सोनिया जैन रहीं। प्रोत्साहन पुरस्कार पक्ष में प्राची जैन और विपक्ष में इंदिरा जैन को मिला। आरक्षण के पक्ष व विपक्ष में प्रतिभागियों ने जोरदार तरीके से अपनी बात रखी।

पक्ष में उनका कहना था कि आरक्षण की व्यवस्था सामाजिक समरसता को कायम रखने के लिए की गई थी। पर इससे जातीय कटुता बढ़ती जा रही है। इसलिए आरक्षण का आधार अब आर्थिक होना चाहिए,  न कि जाति। उधर विपक्ष का तर्क था कि आरक्षण देश में व्यप्त वर्णवादी जाति व्यवस्था से उपजी असमानता को खत्म करने के लिए जरूरी है। आज भी समाज में ऐसे वंचित समूह हैं, जो समाज की मुख्यधारा से बाहर हैं। उनके लिए यह व्यवस्था कायम रखना बहुत जरूरी है।

STAY IN TOUCH!

LATEST NEWS