BREAKING NEWS

< >
PREV ARTICLE

प्रधानमंत्री से कांग्रेस ने समाचार पत्रों में विज्ञान देकर पूछे 10 प्रश्न

अमृत सिटी योजना के तहत प्रथम चरण में 174 करोड़ के प्रस्ताव स्वीकृत

Published: 2016-01-19 04:21 PM IST

 

ग्वालियर, 19 जनवरी नगर निगम ग्वालियर को अमृत सिटी योजना के तहत शामिल किया गया है जिसके तहत प्रथम चरण में वर्ष 2015-2016 के लिये 174.87 करोड़ रूपये स्वीकृत हुये है जिससे शहर में वॉटर सप्लाई, सीवरेज एवं यातायात से संबंधित आवश्यक कार्य किये जायेंगे। उक्ताशय की जानकारी महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने आज ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र एवं ग्वालियर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के पार्षदों को बैठक में दी। इस अवसर पर अमृत सिटी योजना के अंतर्गत किये जाने वाले विकास कार्यों का प्रजेटेंशन भी दिया गया। बैठक में निगमायुक्त अनय द्विवेदी, अपर आयुक्त डॉ. एम.एल. दौलतानी सहित ग्वालियर विधानसभा एवं ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के पार्षद उपस्थित रहे।

नारायण कृष्ण शेजवलकर प्रशासनिक भवन में आयोजित बैठक में अमृत सिटी परियोजना को लेकर प्रजेटैंशन अधीक्षणयंत्री पीएचई आर.एल.एस. मौर्य ने दिया उन्हेांने बताया कि अमृत सिटी परियोजना के तहत ग्वालियर शहर का चयन किया गया है जिसमें शहर की मूलभूत सुविधाओं को लेकर विकास कार्य किये जाने है जिसमें प्राथमिकता के आधार पर जलप्रदाय व्यवस्था, सीवरेज सिस्टम एवं शहरी यातायात सहित हरियाली के क्षेत्र में कार्य किया जाना है।

उन्होंने बताया कि नगर निगम ग्वालियर द्वारा वर्ष 2015-16 के लिये 174.87 करोड़ रूपये के प्रस्ताव शासन को स्वीकृति के लिये भेजे थे जो कि स्वीकृत कर लिये गये है जिसमें 73 करोड़ रूपये से अधिक की राशि जलप्रदाय के लिये तथा 86 करोड़ रूपये से अधिक की राशि सीवरेज सिस्टम के लिये, 11 करोड़ रूपये की राशि शहरी यातायात व्यवस्था के लिये एवं 4 करोड़ रूपये से अधिक की राशि शहर में हरियाली एवं अन्य सुविधाओं के लिये स्वीकृत की गई है।

प्रजेटेंशन के दौरान उन्होंने बताया कि जलप्रदाय के लिये नई पानी की लाईनें एवं जहंा-जहंा पीने का पानी नहीं पहुंचता वहंा पानी की व्यवस्था करना सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थायें शामिल है। इसके साथ ही शहर में प्रत्येक घर को सीवरेज से जोड़ने की योजना भी शामिल है।

प्रजेटेंशन के उपरांत महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ने सभी पार्षदगणों से आग्रह किया कि यह प्रस्ताव शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पूर्व में किये गये सर्वे के आधार पर तैयार किये गये है अब इसको लेकर सभी क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर जमीनी स्तर पर प्रस्ताव तैयार किये जायेंगे तथा जिस क्षेत्र में जिस कार्य की आवश्यकता है उस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर शामिल किया जायेगा। महापौर श्री शेजवलकर ने सभी पार्षदगणों से आग्रह किया है कि वह अमृत सिटी योजना के लिये अपने सुझाव एवं अपने-अपने क्षेत्र में आवश्यक कार्यों की जानकारी लिखित में अपने क्षेत्र के क्षेत्राधिकारी को उपलब्ध करावें जिससे उनके वार्ड के आवश्यक कार्यों को इन योजनाओं में शामिल किया जा सके।

STAY IN TOUCH!

LATEST NEWS